अभी सिर्फ 15 शहरों के लिए चलेंगी ट्रेन, जानिए रिजर्वेशन, ट्रेन रूट, टाइम और किराए सहित पूरी जानकारी

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के चलते बीते 25 अप्रैल से लागू देशव्यापी लॉकडाउन के चलते थमे यात्री ट्रेनों के पहिए अब एक बार फिर से चलने को तैयार हैं। भारतीय रेलवे ने चरणबद्ध तरीके से कुछ चुनिंदा यात्री ट्रेनों के संचालन की हरी झंडी दे दी है। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने 12 मई (मंगलवार) से ट्रेनों के परिचालन शुरू करने के बारे में जानकारी दी है। रेल मंत्री के मुताबिक, भारतीय रेलवे 12 मई से शुरू होने वाली 15 जोड़ी ट्रेनों यानी कुल 30 ट्रेनों के परिचालन को व्‍यवस्थित कर रहा है।
मंगलवार (12 मई) से चलने वाली यात्री ट्रेनों के लिए आज यानी सोमवार (11 मई) शाम चार बजे से टिकट बुकिंग शुरू हो जाएगी, टिकट केवल ऑनलाइन ही लेना होगा। आज (11 मई) शाम चार बजे से आइआरसीटीसी की वेबसाइट (https://www.irctc.co.in/) से रिजर्वेशन कराए जा सकते हैं। बता दें कि, यात्री ट्रेनों का किराया राजधानी एक्सप्रेस के बराबर ही होगा। स्टेशन काउंटर पर कोई लेन-देन नहीं होगा, प्लेटफॉर्म टिकट भी नहीं मिलेगा। केवल वैध कंफर्म टिकट वाले यात्रियों को रेलवे स्टेशनों में प्रवेश करने की अनुमति होगी।
भारतीय रेलवे के मुताबिक 15 रूटों पर कुल 30 ट्रेनें चलाई जाएंगी। यानी कुल 15 जोड़ी ट्रेनों का संचालन होगा। नई दिल्ली से छूटने के बाद ये ट्रेनें कुछ प्रमुख स्टेशनों पर ही रुकेंगी। रास्ते में खाने-पीने का कोई सामान उपलब्ध नहीं कराया जाएगा। यहां तक की ट्रेन में चद्दर और कंबल भी नहीं दिया जाएगा। मंगलवार (12 मई) को नई दिल्ली से राजधानी एक्सप्रेस के 15 रूट पर एसी स्पेशल ट्रेनें चलाई जाएंगी। 500 किलोमीटर के दायरे वाले शहरों को जोड़ने वाली वंदे भारत, तेजस, शताब्दी और जन शताब्दी की शुरुआत अगले चरण में होगी। देशभर के 15 बड़े शहरों में शुरू की जा रही ट्रेन सेवाएं में फिलहाल 15 जोड़ी ट्रेनों की शुरुआत की जा रही है। इसके जरिये अप और डाउन मिलाकर 30 वापसी यात्राएं सुनिश्चित की जाएंगी। पहले चरण में डिब्रूगढ़, अगरतला, हावड़ा, रांची, भुवनेश्वर, सिकंदराबाद, पटना, बिलासपुर, बेंगलुरु, चेन्नई, तिरुवनंतपुरम, मडगांव, मुंबई सेंट्रल, अहमदाबाद और जम्मू तवी को जोड़ने वाली नई दिल्ली स्टेशन से विशेष ट्रेनें शुरू की जा रही हैं।
पहले चरण में शुरू की जा रही 30 यात्री ट्रेनों में यात्रा के दौरान लोगों को कुछ सावधानियां भी बरतनी होगी। इन ट्रेनों में यात्रा के दौरान यात्रियों को चेहरा ढंकना अनिवार्य होगा और प्रस्थान के समय स्क्रीनिंग से गुजरना होगा और केवल यात्रियों को ट्रेन में चढ़ने की अनुमति होगी। यात्रा से कम से कम एक घंटे पहले स्टेशन पहुंचना होगा। बिना लक्षण वाले लोगों को ही यात्रा की अनुमति मिलेगी। मास्क पहनना सभी यात्रियों के लिए अनिवार्य रहेगा। सभी के मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु एप भी अनिवार्य है। टिकट बुकिंग में किसी भी तरह की रियायत नहीं मिलेगी, तत्काल, प्रीमियम तत्काल और करेंट बुकिंग नहीं होगी। अभी केवल एसी कोच के साथ ही सभी स्पेशल ट्रेनें चलेंगी। एसी कोच का तापमान भी सामान्य से थोड़ा ज्यादा रहेगा। सफर के रास्ते में खाने-पीने का कोई सामान नहीं मिलेगा।
बता दें कि, इसके बाद भारतीय रेल नए मार्गों पर और अधिक विशेष यात्री ट्रेन सेवाएं शुरू करेंगी, जो कोविड-19 देखभाल केंद्रों के लिए 20,000 कोचों को आरक्षित करने के बाद उपलब्ध कोचों पर आधारित होगी। इसके साथ ही भारतीय रेलवे कोरोना वायरस देखभाल केंद्रों के लिए 20,000 कोचों को आरक्षित करने के बाद उपलब्ध कोचों के आधार पर नए मार्गों पर और अधिक विशेष सेवाएं शुरू करेगा। इसके अतिरिक्त श्रमिक स्पेशल के तौर पर 300 ट्रेनों के के संचालन के लिए भी कोचों को अलग से आरक्षित किया जाएगा। बता दें कि लॉकडाउन के चलते 25 मार्च रेल यातायात पूरी तरह से प्रभावित था, जो कि अब भारत सरकार ने बड़ा फैसला लेकर ट्रेनों का संचालन फिर से शुरू करने का ऐलान किया है। ट्रेनों के साथ-साथ सरकार कुछ रूट पर घरेलू हवाई सेवा को भी शुरू करने पर विचार कर रही है। सूत्रों के मुताबिक, 14 मई से कुछ घरेलू उड़ानें शुरू किए जाने की उम्मीद है।

loading…