अभी अभीः तट से टकराने से पहले ही अम्फान चक्रवात ने मचाई तबाही, जड से उखाड डाले पेड

नई दिल्ली। ओडिशा के विशेष राहत आयुक्त पीके जेना ने कहा कि चक्रवात अम्फान पारादीप से 110 किलोमीटर दूर है और 18-19 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से आगे बढ़ रहा है। एक घंटे पहले पारादीप में 102 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चली थीं। आज देर शाम तक पश्चिम बंगाल में सुंदरबन के पास भूस्खलन की आशंका है। अगले 6-8 घंटे बेहद महत्वपूर्ण हैं।

पाकिस्‍तान को अब चला पता, चीन ने लगाया उसे चूना

ओडिशा में तेज हवाओं की वजह से पेड़ टूटकर सड़कों पर गिर रहे हैं। फायर सर्विसेज टीम वाहनों की आवाजाही, आवश्यक वस्तुओं, और आपातकालीन सेवा कर्मियों की सुविधा के लिए भद्रक में आर एंड बी कार्यालय के पास सड़क पर गिरे पेड़ों को हटा रही है।

ओडिशा में अम्फान तूफान की वजह से खतरनाक तेज हवाएं चल रही हैं। मौसम विभाग ने बताया कि पारादीप में 102 किमी, चंदबली में 74 किमी, भुवनेश्वर में 37 किमी, बालासोर में 61 किमी और पुरी में 41 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं।

देशभर के प्राइवेट कर्मचारियों और मजदूरों को बडा झटका, अब से नहीं मिलेगा

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने बताया कि महाचक्रवाती तूफान अम्फान आज सुबह 6रू30 बजे से बंगाल की उत्तर-पश्चिमी खाड़ी पर एक बेहद भयंकर चक्रवाती तूफान के रूप में केंद्रित है, जो पारादीप से लगभग 125 किलोमीटर दक्षिण-पूर्व में है। चक्रवाती तूफान के मद्देनजर ओडिशा में अब तक 1704 आश्रय शिविर लगाए गए हैं और 119075 लोगों को निकाला गया है।

अम्फान चक्रवात के मद्देनजर पश्चिम बंगाल में राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (छक्त्थ्) की 19 टीमों को तैनात किया गया है। दक्षिण-24 परगना में 6 टीमें, पूर्वी मिदनापुर और कोलकाता में 4 टीमें, उत्तर-24 परगना में 3 टीमें, हुगली और हावड़ा में 1 टीम तैनात किया गया है। एनडीआरएफ के दूसरे बटालियन के कमांडेंट निशित उपाध्याय ने यह जानकारी दी। ओडिशा के भद्रक में भी अम्फान ने दस्तक दे दी है। यहां बारिश और तेज हवाएं चलनी शुरू हो गईं हैं। आज  यह बंगाल के तट से टकराएगा।

loading…