अभी अभीः कोरोना पर लीक हुआ अमेरिकी सेना का दस्तावेज, खुलासे से सहमी दुनिया

नई दिल्ली। अमेरिका के रक्षा मंत्रालय के हेडक्वार्टर पेंटागन के मेमो में चेतावनी दी गई है कि अगले साल (2021) की गर्मी (जून-जुलाई) तक कोरोना वैक्सीन नहीं मिल पाएगी और इसकी वजह से दुनियाभर में कोरोना वायरस मौजूद रहेगा. साथ ही इसकी प्रबल संभावना बनी रहेगी कि कोरोना वायरस दोबारा बड़े पैमाने पर फैल जाए. मेमो लीक होने के बाद इस बात का खुलासा हुआ है.

डेली मेल ने ‘टास्क एंड पर्पस’ वेबसाइट के हवाले से बताया है कि मेमो पर किसी के हस्ताक्षर नहीं है. ऐसा कहा जा रहा है कि यह मेमो सेक्रेटरी ऑफ डिफेंस मार्स इस्पर के लिए तैयार किया गया था. रिपोर्ट के मुताबिक, इसे होमलैंड डिफेंस एंड ग्लोबल सिक्योरिटी के असिस्टेंट सेक्रेटरी ऑफ डिफेंस केनेथ रपुआनो ने लिखा. हालांकि, मेमो की आधिकारिक रूप से पुष्टि नहीं हुई है.

मेमो में लिखा गया है कि तमाम सूचना से ये मालूम पड़ता है कि आने वाले महीनों में दुनियाभर में फैले कोरोना का माहौल बना रहेगा. आशंका है कि जब तक इम्यूनाइजेशन के जरिए बड़े पैमाने पर इम्यूनिटी न हो जाए, ये जारी रहेगा. आने वाले दिनों में मिलिट्री को लेकर कहा गया है कि हमारे सामने लंबा रास्ता है. इसमें काफी संभावना है कि कोरोना फैलने की घटना का दोहराव भी हो.

लीक मेमो में कथित तौर पर कहा गया है कि हमें दोबारा से अपने अहम मिशन में जुट जाना चाहिए. एक्टिविटी बढ़ा देनी चाहिए और कोरोना के दोबारा फैलने को लेकर जरूरी तैयारी करनी चाहिए. अमेरिका में कोरोना वायरस के कुल मामले 1,528,566 से अधिक हो चुके हैं. देश में 91,921 लोगों की कोरोना से मौत भी हो चुकी है.

अमेरिका में वैक्सीन को लेकर कुछ पॉजिटिव रिजल्ट सामने आए हैं. लेकिन निश्चित तौर पर अभी वैक्सीन के बारे में कुछ भी कहा जाना संभव नहीं है कि ये कब तक लोगों तक पहुंच जाएगी.

loading…