अभी अभीः कोरोना पर बेहद बुरी खबर, IMA की मोदी सरकार से गुहार, डाक्टरों को बचाओ

नई दिल्ली। भारतीय चिकित्सा संगठन (आईएमए) ने शनिवार को कहा कि देश में अभी तक कुल 196 चिकित्सकों की कोविड-19 से मौत हुई है और प्रधानमंत्री से आग्रह किया कि वह इस मुद्दे पर ध्यान दें। आईएमए ने चिंता जताते हुए कहा, ‘‘आईएमए की तरफ से एकत्रित नवीनतम आंकड़े के मुताबिक हमारे देश ने 196 चिकित्सकों को खो दिया, जिनमें से 170 की उम्र 50 वर्ष से अधिक थी और इसमें 40 फीसदी जनरल प्रैक्टिशनर्स थे।’’

चिकित्सकों के संगठन ने कहा कि बुखार और इससे जुड़े लक्षणों के लिए ज्यादा संख्या में लोग जनरल प्रैक्टिसनर्स से संपर्क करते हैं इसलिए वे पहला संपर्क बिंदु होते हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को लिखे पत्र में आईएमए ने आग्रह किया कि चिकित्सकों और उनके परिवार के लिए पर्याप्त देखभाल सुनिश्चित की जाए और सभी सेक्टरों के चिकित्सकों को सरकार की तरफ से चिकित्सीय एवं जीवन बीमा दिया जाए। आईएमए के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. राजन शर्मा ने कहा, ‘‘आईएमए देश भर के साढ़े तीन लाख चिकित्सकों का प्रतिनिधित्व करता है। यह जिक्र करना जरूरी है कि कोविड-19 सरकारी और निजी सेक्टर में भेद नहीं करता और सब को समान रूप से प्रभावित करता है।’’

इससे पहले, कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते प्रसार को देखते हुए पंजाब के जालंधर, लुधियाना और पटियाला में पाबंदियां और बढ़ा दी गई हैं। गैर जरुरी सेवाओं में रात को नौ बजे से सुबह पांच बजे तक कर्फ्यू जारी रहेगा। नए आदेश के मुताबिक दुकाने और शॉपिंग मॉल रात आठ बजे तक खुले रहेंगे और होटल, रेस्टोरेंट रात नौ बजे तक खुल सकते हैं। इसके अलावा शराब की दुकानें भी रात के नौ बजे तक खुल सकती हैं। रविवार को हर बार की तरह लॉकडाउन जारी रहेगा और सिर्फ जरुरी सेवाएं से जुड़ी दुकानें ही खुल सकेंगी। नए आदेश आज रात नौ बजे से लागू हो जाएंगे।

कोविड-19 पर जानकारी देने वाले वर्ल्डोमीटर की रिपोर्ट के मुताबिक अगस्त महीने में भारत संक्रमण के सबसे अधिक मामले दर्ज किए गए। रिपोर्ट कहती है ‘अगस्त के पहले छह दिनों के भीतर भारत में कोविड-19 के 3,28,903 मामलों की पुष्टि हुई। इतने समय में अमेरिका में 3,26,111 और ब्राजील में 2,51,264 मामलों की पुष्टि हुई। इन छह में चार दिनों में भारत में कोरोना के नए मामले दुनिया में सबसे अधिक रहे। ये तारीख हैं 2,3,5 और 6 अगस्त।’

Trending Posts

loading…