अभी अभीः आने वाली है तबाही? बिगडा दुनियाभर के वैज्ञानिकों का गणित, हालात बेकाबू

नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस की वजह से 50 हजार से ज्यादा लोग बीमार हो चुके हैं. 1783 लोगों की मौत हो चुकी है. पूरा देश अभी भी लॉकडाउन में है. सब यह जानना चाहते हैं कि आखिरकार कोरोना वायरस कब खत्म होगा? कब भारत से कोरोना वायरस का अंत होगा? सिर्फ भारत ही नहीं दुनिया में कब तक खत्म होगा कोरोना वायरस? सिंगापुर के एक्सपर्ट ने दावा किया था कि ज्यादातर देशों से मई में कोरोना खत्म हो जाएगा. इसमें भारत भी शामिल था लेकिन अब ऐसा होता दिख नहीं रहा है.

कोरोना कहर के बीच देश के इस शहर में सड़क पर बेहोश होकर गिरने लगे लोग, मचा हडकंप, तस्वीरें उडा देंगी होश

सिंगापुर के एक संस्थान ने दुनिया में कोरोना वायरस को लेकर चल रहे आंकड़ों का विश्लेषण कर ये बताया था किस देश में कोरोना वायरस कब और कितना खत्म होगा. लेकिन कोरोना वायरस ने दुनिया भर के विशेषज्ञों के गणित को बिगाड़ दिया है. किसी की भी भविष्यवाणी सही होती नहीं दिख रही है.

सिंगापुर यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी एंड डिजाइन (SUTD) के रिसर्चर्स ने भारत समेत दुनिया के कई देशों के कोरोना वायरस से जुड़े आंकड़ों का अध्ययन कर गणना की थी कि कोरोना वायरस कब और कितना खत्म होगा. SUTD के शोधकर्ताओं ने इसके लिए सक्सेप्टिबल इन्फेक्टेड रिकवर्ड एपिडेमिक मॉडल (SIR) की मदद से आकलन किया था. इन्होंने दुनिया भर के कोरोना वायरस मरीजों का आंकड़ा ऑवर वर्ल्ड इन डाटा वेबसाइट से लिया था.

25 अप्रैल 2020 को आई रिपोर्ट में कहा गया था कि दुनिया भर से कोरोना वायरस का संक्रमण 29 मई तक 97 फीसदी खत्म हो जाएगा. लेकिन 100 फीसदी खत्म होने में इसे 8 दिसंबर तक का समय लगेगा. लेकिन यहां इस संस्थान के एक्सपर्ट्स का गणित बिगड़ गया है. अब यह बढ़कर 20 दिसंबर 2020 हो गया है.

सिंगापुर यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी एंड डिजाइन की स्टडी के अनुसार भारत में कोरोना वायरस का अंत 21 मई तक हो सकता है. भारत में 21 मई तक यह 97 फीसदी तक खत्म होने की संभावना है. लेकिन अब यह बढ़कर 31 अगस्त 2020 हो गया है. यहां भी भविष्यवाणी बदल गई.

भारत में तो कोरोना ने विकराल रूप लेना शुरू कर दिया है. मई की शुरुआत के बाद से ही देश में कोरोना वायरस के आंकड़ों में जबरदस्त उछाल हुआ है. गुरुवार को देश में कुल कोरोना वायरस केस की संख्या 50 हजार का आंकड़ा पार कर चुकी है, जबकि 1700 से अधिक लोगों की मौत हुई है. देश में महाराष्ट्र में सबसे अधिक मामले हैं, जबकि अकेले मुंबई में ही केस की संख्या 10 हजार से अधिक है.

भारत में पिछले तीन दिन में ही दस हजार से अधिक केस सामने आ चुके हैं, जो डराने वाला आंकड़ा है. अगर पिछले तीन दिनों का रिकॉर्ड देखें. 4 मई को 3656, 5 मई को 2934 और 6 मई को 3561 कोरोना केस सामने आए. अगर राज्यों की बात करें तो भारत में कई ऐसे राज्य हैं, जहां कोरोना वायरस लगातार बेकाबू होता जा रहा है. महाराष्ट्र में तो कुल आंकड़ों की संख्या 16 हजार के पार कर चुकी है, जिसमें 10 हजार से अधिक मामले मुंबई में ही है. महाराष्ट्र के बाद गुजरात, दिल्ली, तमिलनाडु और राजस्थान में कोरोना वायरस का अधिक प्रकोप देखने को मिला है.

SUTD के अनुसार भारत समेत पूरी दुनिया में कोरोना खत्म होने की भविष्यवाणी प्रतिदिन बदलने वाले आंकड़ों के साथ बदलती रहेगी. देश के कई विशेषज्ञों की मानें तो भारत में कोरोना वायरस का दूसरा लहर तभी रुक सकता है जब लोग लॉकडाउन का पालन करते हैं.

loading…