अभी अभीः अनलाॅक 2.0 से पहले ही देश के इन 7 राज्यों ने लिया बडा फैसला, आज से…

नई दिल्ली. भारत में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus In India) के बढ़ते मामलों के बीच राज्य सरकारें पशोपेश में हैं कि वे अनलॉक-2 (Unlock-2) के तहत राज्य में आर्थिक गतिविधियों में छूट दें या फिर 1 जुलाई से दोबारा लॉकडाउन (Lockdown) लागू करें. पश्चिम बंगाल और झारखंड सरीखे राज्यों ने अभी से 31 जुलाई तक के लिए लॉकडाउन लागू रखने का फैसला किया है, वहीं तमिलनाडु में कोरोना से बुरी तरह से प्रभावित जिलों में ही लॉकडाउन लागू रखने का निर्णय किया गया है.

आइए हम आपको बताते हैं कि किन राज्यों ने अब तक क्या फैसला लिया है और इसका आप पर क्या असर पड़ेगा

झारखंड- झारखंड सरकार ने राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य में लॉकडाउन 31 जुलाई तक बढ़ाने का निर्णय लिया है. हालांकि, लॉकडाउन के नियमों का अनुपालन पहले की तरह ही सख्ती से जारी रहेगा . फिलहाल लॉकडाउन की अवधि 30 जून के लिए ही थी. राज्य सरकार ने अधिसूचना जारी कर शुक्रवार को बताया कि उच्चस्तरीय बैठक के बाद कोविड-19 मामलों की राज्यस्तरीय कार्यकारिणी समिति के अध्यक्ष एवं झारखंड के मुख्य सचिव सुखदेव सिंह ने आज यह निर्देश जारी किया.

पश्चिम बंगाल- पश्चिम बंगाल में लॉकडाउन 31 जुलाई तक के लिए बढ़ा दिया गया है हालांकि इसमें कुछ ढील भी दी गई है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक जुलाई से रात्रि कर्फ्यू में भी एक घंटे की ढील देने का ऐलान किया है. बनर्जी ने कहा, ‘हमने तय किया है कि (एक जुलाई से) रात्रि कर्फ्यू रात 10 से सुबह 5 बजे तक लागू रहेगा. हम चाहते हैं कि सभी ऐहतियाती कदम उठाते हुए एक जुलाई से मेट्रो सेवाएं शुरू की जाएं. इस दौरान केवल बैठकर ही यात्रा की जाए.’ फिलहाल पश्चिम बंगाल में रात्रि कर्फ्यू की अवधि रात नौ बजे से सुबह पांच बजे तक है.

दिल्ली- कोविड -19 मद्देनजर दिल्ली में स्कूल 31 जुलाई तक बंद रहेंगे, जबकि ऑनलाइन कक्षाएं और अन्य गतिविधियां जारी रहेंगी. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राज्य में बढ़ते मामलों के बीच लॉकडाउन लगाने से पहले ही इनकार कर दिया था.

असम- कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच असम सरकार ने घोषणा की कि शुक्रवार से राज्यभर में शाम सात बजे से 12 घंटे का रात्रि कर्फ्यू लागू रहेगा और 28 जून आधी रात से कामरूप (महानगर) जिले में 14 दिन का संपूर्ण लॉकडाउन रहेगा. गुवाहाटी कामरूप (महानगर) जिले में पड़ता है. असम के स्वास्थ्य मंत्री हेमंत बिस्व सरमा ने कहा कि गुवाहाटी में 15 जून से अब तक कोरोना वायरस के 762 मामले सामने आ चुके हैं और उनमें से 677 ने हाल में कोई यात्रा नहीं की थी. उन्होंने कहा कि कई लोग राज्य में बाहर से लौटे संक्रमित लोगों के संपर्क में आने से संक्रमण के शिकार हुए होंगे. उन्होंने कहा कि गुरुवार को सामने आए संक्रमण के 276 मामलों में से 133 गुवाहाटी से थे. उन्होंने कहा, ‘हमारे पास अब 28 जून की आधी रात से 14 दिन के लिए संपूर्ण लॉकडाउन लागू करने के अलावा और कोई विकल्प नहीं है. इस बार हम और कड़ाई करेंगे और पहले सात दिन तक सब्जी और किराना की दुकानें नहीं खोली जाएंगी.’

तेलंगाना- तेलंगाना में हैदराबाद का बेगम बाजार रविवार से आठ दिनों के लिए बंद रहेगा. शहर के किराना कारोबारी संघ की एक आपात बैठक बृहस्पतिवार को हुई जिसमें नगर निगम के गोशामहल क्षेत्र में अब तक 400 से अधिक मामले सामने आने के मद्देनजर दुकानें आठ दिन के लिए बंद रखने का फैसला किया गया. बाजार इसी क्षेत्र में आता है.

तमिलनाडु- तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई समेत मदुरै और चेंगलपेट, कांचीपुरम और तिरुवल्लुर में 19 जून से 12 दिन का लॉकडाउन लागू है. बता दें चेन्नई में अब तक अब तक 700 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. ये जिले राज्य में कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं.

कर्नाटक – कर्नाटक सरकार ने कहा कि बेंगलुरू में कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए हरसंभव प्रयास किये जाएंगे और लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा. सरकार ने कहा कि वह विकास संबंधी गतिविधियां और कोविड-19 प्रबंधन साथ में संचालित करना चाहती है. मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने बेंगलुरू से सभी राजनीतिक दलों के विधायकों, विधान परिषद सदस्यों और सांसदों की बैठक की अध्यक्षता की जिसमें उन्होंने वायरस पर रोकथाम के लिए उठाए गए कदमों पर चर्चा की. उन्होंने कहा कि शहर में अब कोई लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा.

loading…