• प्यार ही नहीं सेहत के लिए भी ज़रूरी है किस

    item-thumbnail 'उसे' प्यार करने के लिए हम 'किस' करते हैं और 'किस' हम उसे करते हैं, जिसे प्यार करते हैं। अपने पार्टनर से अपनी भावनाएं साझा करने के लिए बस 'किस' ही काफी है। 'किस' प्यार की वो भाषा है जो शब्दों की मोहताज नहीं है। आप हैरान रह जाएंगे अगर आपसे कहा जाए कि 'किस' प्यार की सेहत के लिए ही नहीं आपकी सेहत के लिए भी बेहद ज़रूरी है! जानना चाहेंगे कैसे? तो आज हम आपको बता रहे हैं कि 'किस' कैसे आपको सेहतमंद रखती है।
    1. बेहतर बॉन्डिंग
    'किस' आपके बीच बेहतर बॉन्डिंग स्थापित करती है। यह आपकी अंतरंगता (इंटमसी) को बढ़ाती है। 'किस' करते वक्त महिला और पुरुष दोनों के शरीर में ऑक्सिटॉसिन या 'लव हार्मोन' बनने लगते हैं, जो आपसी प्यार को बढ़ाते हैं। आप जितना ज्यादा और लंबे समय तक 'किस' करते हैं, यह पार्टनर के प्रति आपके समर्पण को दर्शाता है। किसिंग के वक्त पैशनेट रहना दर्शाता है कि आपका रिश्ता बेहद मजबूत है, क्योंकि पैशन बनावटी नहीं होता। यानी 'किस' के ज़रिए आप अपने रिश्ते की मजबूती को परख सकते हैं।
    2.सेक्सुअल कम्पैटबिलटी बढ़ाती है
    'किस' फोरप्ले का सबसे मजबूत पार्ट है। अपने सबसे इराटिक (कामोत्तेजक) एक्सपीरियंस को याद करिए, कि वो कब और कैसे शुरू हुआ। आपको 10 में से 9 बार 'किस' ही इनिशएटर के तौर पर याद आएगी। जब वह व्यक्ति आपको 'किस' करता है, जिसे आप प्यार करते हैं, तो आप आगे बढ़ने के लिए खुद को कॉन्फ़िडैंट फील करते हैं। सिर्फ बेड पर ही नहीं, ज़िंदगी के हर स्तर पर यह आपके कॉन्फ़िडेंस लेवल को बढ़ाती है। अगर आपके रिश्ते की शुरुआत अभी हुई है, तो पहली 'किस' उसे यह बताने के लिए काफी है कि आप उसे कितना पसंद करते हैं। इसी तरह बस एक 'किस' से आप यह भी जान सकते हैं कि आप अपने पार्टनर के लिए कितने अट्रैक्टिव हैं। मतलब रिश्ते में पहली 'किस' का खास महत्व है।
    3.खुशी का स्तर बढ़ाती है
    क्या कभी आपने इस बात पर गौर किया है कि एक 'सही किस' आपकी आंखों में सपने और चेहरे पर मुस्कान छोड़ जाती है। ऐसा होता है इंडॉरफिन कैमिकल के कारण, जो मूड को अच्छा बनाता है। यह कैमिकल रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाता है। कई शोध कहते हैं कि डिप्रेशन को नियंत्रित करने में भी 'किस' किसी साइकॉलजिकल ट्रीटमेंट और एंटीडिप्रेशन से बेहतर काम करती है। मतलब यह एकदम मुफ्त 'हैपिनेस बूस्टर' है।
    4.चेहरे की रंगत बढ़ाती है
    आपके फेस की मसल्स को टोन करके 'किस' आपके चेहरे की रौनक बढ़ाती है। विशेषज्ञों का मानना है कि एक पैशनेट 'किस' में चेहरे की 34 मसल्स का इंवॉल्वमेंट होता है, इसके साथ ही शरीर की दूसरी 112 पास्चर मसल्स भी 'किस' एक्ट में शामिल होती हैं। इससे शरीर में रक्त संचार बढ़ता है। इस दौरान गर्दन और जॉ-लाइन की भी एक्सरसाइज़ होती है, जो आपको जवां बनाए रखती है। आपके चेहरे पर रिंकल्स भी नहीं आते।
    5.दिल की सेहत
    'किस' आपके दिल को दुरुस्त रखती है। इस दौरान बढ़ने वाला रक्त संचार दिल को सेहतमंद रखता है और आपके ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार 'किस' आपकी कार्डीओवैस्क्यर (हृदयवाहिनी) हेल्थ को सही रखता है।
    6. कैलोरीज़ बर्न करती है
    एक 'किस' आपकी 10 से 15 कैलोरी बर्न करती है। मतलब आप एक पैशनेट किस के साथ खुद को फिट भी रख सकते हैं। इसलिए जो लोग कैलोरी बर्न करने के लिए चिंतित रहते हैं, 'किस' उनके लिए बेतरीन उपाय है।
    7.दांतो की सेहत
    एक अच्छी 'किस' वही होती है, जिसमें दांतों की कोई भागीदारी न हो, लेकिन किस आपके दांतों को सेहतमंद बनाती है, उन्हें हाइजीएनिक रखकर। दांतों को साफ करने का 'किस' सबसे नैचरल तरीका है। यह आपके दांतों का कैविटी से भी बचाव करती है।
    8.तनाव नहीं होने देती
    एक थकान भरे दिन के बाद आप घर जाकर अपने पार्टनर को 'किस' करें। इससे आपका तनाव दूर होगा, क्योंकि 'किस' तनाव बढ़ाने वाले हार्मोन कोर्टिसोल को नियंत्रित करती है। यह हार्मोन आपके पाचन तंत्र पर भी बुरा प्रभाव डालता है। बस एक पैशनेट लिप-लॉक से आप इन सभी नकारात्मक प्रभावों से दूर रह सकते हैं। माथे और गाल पर एक प्यार भरी किस भी आपको रिलैक्स करने के लिए काफी होती है।



    Last Updated On: 04-01-17 17:44:43