• यूपी चुनावी सर्वेः जानिए किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें!

    item-thumbnail  लखनऊ/इलाहाबाद। देश के सबसे बड़े राज्य, यूपी में जल्द होने जा रहे विधानसभा चुनाव में इस बार किसी भी पार्टी को बहुमत मिलने की उम्मीद नहीं है। जिसके चलते विधानसभा त्रिशंकु होने के आसार हैं। चुनाव तारीखों का एलान होने से ठीक पहले किये गए एक न्यूज चैनल के ओपिनियन पोल में यह बात सामने आई है। इस ओपिनियन पोल में खास यह है पिता-पुत्र के झगड़े के बावजूद समाजवादी पार्टी अभी तक नंबर वन है। सपा चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी के रुप में उभर सकती है। कई अन्य मीडिया हाउसेस के साथ मिलकर किए गए इस ओपिनियन पोल के मुताबिक मुलायम और अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी को यूपी चुनाव में 30 फीसदी वोट मिल सकते हैं और वह सबसे बड़ी पार्टी के रुप में सामने आ सकती है। किसको मिल रही कितनी सीटें:
     सर्वे के मुताबिक समाजवादी पार्टी को यूपी में 141 से 151 सीटें मिल सकती हैं। नोटबंदी के बाद हो रहे चुनाव में बीजेपी को भी ज्यादा नुकसान होता नहीं दिख रहा है। ओपिनियन पोल के मुताबिक बीजेपी को यूपी में 27 वोट मिल सकते हैं। उसे 129 से 139 सीटें मिल सकती है।
    माया को लग सकता है झटका :
    मायावती की पार्टी बीएसपी को इस चुनाव में बड़ा झटका लगने की उम्मीद जताई जा रही है। ओपिनियन पोल के मुताबिक यूपी चुनाव में बीएसपी को सिर्फ 22 फीसदी वोट मिलने की ही उम्मीद है और उसे 93 से 103 सीट मिल सकती है। यह मायावती के लिए बड़ा झटका साबित हो सकता है।
    कांग्रेस का सबसे खराब प्रदर्शन :
    सोनिया और राहुल गांधी की पार्टी कांग्रेस को इस चुनाव में अब तक का सबसे खराब प्रदर्शन साबित हो सकता है। इस चुनाव में कांग्रेस को महज  8 फीसदी वोट और 13 से 19 सीटें ही मिलने की उम्मीद है ।
    तो बीजेपी को हो सकता है फायदा :  
    ओपिनियन पोल की खास बात यह है समाजवादी पार्टी में अगर झगड़ा बढ़ता है और पार्टी का बंटवारा होता है तो उसका फायदा बीजेपी को मिल सकता है।
    अखिलेश हैं सबकी पसंद :
    सर्वे के मुताबिक यूपी की जनता सीएम के तौर पर अखिलेश यादव को ही दोबारा देखना चाहती है। सबसे ज्यादा तीस फीसदी लोगों ने अखिलेश यादव को अपना पसंदीदा सीएम बताया है और वह सबसे बड़ी पसंद के तौर पर उभरकर सामने आए हैं।
    माया और आदित्यनाथ का ग्राफ :
    बीएसपी सुप्रीमो मायावती 21 फीसदी वोटरों की पसंद के साथ दूसरे नंबर पर है। इसी तरह बीजेपी नेता योगी आदित्यनाथ सिर्फ 6 फीसदी वोटरों की पसंद है। खास बात यह भी है कि यूपी के 34 फीसदी लोग अखिलेश के कामकाज से खुश हैं जबकि पीएम मोदी के काम से सिर्फ 32 फीसदी लोग ही खुश हैं।
    पिछड़ गए मुलायम :
    सर्वे की खास बात यह भी है कि समाजवादी पार्टी को जो लोग वोट देने की बात कह रहे हैं, उनमें से 83 फीसदी लोग अखिलेश यादव को दोबारा सीएम के तौर पर देखना चाहते हैं और वह अखिलेश के चेहरे पर ही सपा को वोट देने की बात कह रहे हैं। मुलायम इस रेस में अपने बेटे से काफी पिछड़ गए हैं और वह सीएम के तौर पर सपा समर्थित वोटरों में से सिर्फ 6 फीसदी की ही पसंद हैं।



    Last Updated On: 2017-01-04 10:10:28