• मुलायम सिंह को हटा खुद समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष बनें सीएम अखिलेश यादव

    item-thumbnail  लखनऊ। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बन गए हैं. आज लखनऊ में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अधिवेशन में अखिलेश को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाने का प्रस्ताव पास किया गया है. वहीं शिवपाल यादव को यूपी के अध्यक्ष पद से हटा दिया गया है. खबर मिल रही है कि मुलायम सिंह यादव को पार्टा का मार्गदर्शक बना दिया गया है. ये सम्मेलन जनेश्वर मिश्र पार्क में हो रहा है।
     अधिवेशन में रामगोपाल यादव ने कहा है कि अखिलेश के खिलाफ साजिश रची जा रही है. पार्टी के दो लोग साजिश कर रहे हैं. वो लोग नहीं चाहते की यूपी में सपा की सरकार बने। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अधिवेशन में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, महासचिव रामगोपाल यादव और सांसद नरेश अग्रवाल पहुंच गए हैं। सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने पार्टी के कार्यकर्ताओं को एक चिट्टी लिखकर अधिवेशन में ना जाने के लिए कहा है।
     सपा के वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव, मुलायम सिंह यादव के साथ बैठक कर रहे हैं. ये बैठक मुलायम सिंह यादव के आवास पर चल रही है.खबर आ रही हैं कि इस सम्मेलन में शिवपाल नहीं आ रहे है. उन्होंने अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश कर दी है. वहीं पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने अधिवेशन में जाने से मना कर दिया है. मुलायम ने इस अधिवेशन को असंवैधानिक बताया है। सम्मेलन में शिवपाल को प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाया जा सकता है और अमर सिंह को एक बार फिर पार्टी से बाहर किया जा सकता है। बता दें कि राष्ट्रीय सम्मेलन बुलाने के लिए 40 फीसदी सदस्यों की मंजूरी लेनी होती है. यहां अखिलेश के पास 40 फीसदी से ज्यादा का समर्थन हैं। यादव परिवार पांच सासंदो में से मुलयाम को अगल कर दिया जाए तो पत्नी डिंपल, चचेरे भाई धर्मेंद्र यादव, रामगोपाल के बेटे अक्षय यादव और भतीजा तेज प्रताप यादव भी अखिलेश के साथ ही खड़े है।
    अगर अखिलेश राष्ट्रीय अध्यक्ष बने तो…
    समाजवादी पार्टी पर उनका कब्जा होगा. ये भी साफ होगा कि पार्टी जीतती है तो सीएम अखिलेश ही बनेंगे.अखिलेश 403 सीटों पर उम्मीदवारों का एलान करने के लिए आजाद होंगे.साइकिल का चुनाव चिन्ह भी वही बाटेंगे.अखिलेश का विरोध करने वाले नेता हाशिए पर चले जाएंगे। अमर सिंह उत्तर प्रदेश में समाजवादी परिवार के दंगल में अखिलेश समर्थकों के निशाने पर रहे हैं. खुद अखिलेश भी बिना नाम लिए सारे विवाद के लिए एक बाहरी शख्स को जिम्मेदार ठहराते रहे. इस पर लंदन में बैठे अमर सिंह ने कहा कि उन्हें बेवजह विलेन बनाया जा रहा है।
     मुलायम और अखिलेश के बीच सुलह की शर्तों में अमर सिंह को पार्टी से निकाले जाने की शर्त की भी चर्चा थी, हालांकि इस पर किसी ने खुल कर कुछ नहीं कहा और न ही अभी ऐसा कोई फैसला हुआ है लेकिन खुद अमर सिंह का कहना है कि ये नेताजी को तय करना है कि कौन गलत और कौन सही है।



    Last Updated On: 2017-01-01 11:58:16