• शरीर के इस अंग का आकार बदलते ही हो जाएं सचेत, हो सकती है मौत!

    item-thumbnail  इंसानी शरीर के हर हिस्से का अपना महत्व है। एक स्वस्थ शरीर के लिए हर अंग, हर कोशिका का सही रूप से काम करना बहेद आवश्यक है। शरीर के अंगों के काम करने, उनके सक्रिय रहने आदि के अध्ययन से किसी भी इंसान की सेहत और उम्र का अंदाजा लगाया जा सकता है। शरीर के सभी अंग हमें तरह-तरह के संकेत देते हैं। एसिडिटी हो जाने पर इंसान को खट्टी डकारों से रूबरू होना पड़ता है तो संक्रमण की स्थिति में खुजली परेशान करने लगती है।
     ऐसे ही दिल की बीमारी से जूझ रहे इंसान की उम्र का अंदाजा उसकी बांह के आकार से लगाया जा सकता है। अमेरिकन जर्नल ऑफ कार्डियोलॉजी में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, जिन लोगों को दिल से जुड़ी कोई बीमारी है, उनकी बांह के ऊपरी हिस्से को देखकर उनके सर्वाइवल रेट की गणना की जा सकती है। इस अध्ययन में दिल से जुड़ी बीमारी के 600 उम्रदराज लोगों को शामिल किया गया। जिसमें शोधकतार्ओं ने भुजा की परिधि और दिल से जुड़ी बीमारी के बीच संबंध होने की बात कही है। शोधकर्ताओं ने बांह के मिड-अपर पार्ट और काफ की परिधि का आंकलन किया। ये दो आंकड़े मसल-मास की पहचान करने में प्रयोग किए जाते हैं। उन्होंने मरीजों के मसल्स फंक्शन को उनकी चाल और पकड़ से देखा। एक साल के अंदर अध्ययन के दौरान शोधार्थियों ने पाया कि 65 साल के करीब 72 लोगों की मौत हो गई लेकिन जिनकी भुजा की परिधि अच्छी थी, वे सब स्वस्थ रहे।



    Last Updated On: 11-01-17 18:53:19